Saturday, June 19, 2021
Home खेल Corona की वजह से मां-बहन को खोने पर क्रिकेटर Veda Krishnamurthy का...

Corona की वजह से मां-बहन को खोने पर क्रिकेटर Veda Krishnamurthy का छलका दर्द, कहा- ‘बदल गई मेरी दुनिया’


नई दिल्ली: भारतीय महिला टीम की क्रिकेटर वेदा कृष्णामूर्ति (Veda Krishnamurthy) की मां और बहन का कुछ दिनों पहले कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से निधन हो गया. इस क्रिकेटर ने अपने परिवार के दोनों सदस्यों को खोने पर अफसोस जताया है. 

खतरनाक है ये वायरस-वेदा

बेंगलुरु की 28 साल की इस क्रिकेटर ने अपनी बहन और मां को भावनात्मक श्रद्धांजलि दी. वेदा की मां और बहन का निधन 2 हफ्ते के अंदर हुआ.  वेदा ने ट्विटर पर कहा, ‘ये वायरस काफी खतरनाक है. मेरे परिवार ने सब कुछ ठीक तरीके से किया लेकिन वायरस ने फिर भी नहीं बख्शा.’

‘कोरोना पीड़ितों के साथ हूं’

वेदा ने कहा, ‘मैं दिल से उन सभी के साथ हूं जो इस तरह के हालात का सामना कर रहे हैं. सुरक्षित रहें, मजबूत रहें.’ उनकी मां चेलुवांबा देवी (Cheluvamba Devi) की मौत के 2 हफ्ते के बाद बड़ी बहन वत्सला शिवकुमार (Vatsala Shivakumar) का निधन बीते गुरुवार को हुआ.

यह भी देखें- श्रीलंका में 3 वनडे और 3 टी-20 खेलेगी टीम इंडिया, जानिए पूरा शेड्यूल

 

‘बदल गई मेरी दुनिया’

इस ऑलराउंडर ने कहा, ‘तुम दोनों के चले जाने के बाद मेरी दुनिया पूरी तरह से बदल गई है. मुझे नहीं पता कि हमारा परिवार फिर से कैसे एकजुट होगा. मैं सिर्फ इतना कह सकती हूं कि आप दोनों से बहुत प्यार करती हूं और आप दोनों को याद करूंगी.’

 

 

तुम दोनों मेरे साथ नहीं हो-वेदा

अपने सबसे करीबी 2 लोगों को खोने के बाद उन्होंने लिखा, ‘मेरी खूबसूरत अम्मा और अक्का (बहन). पिछले कुछ दिन घर पर हम सभी के लिए दिल के टूटने वाले रहे हैं. आप दोनों हमारे घर की नींव थे. कभी सोचा भी नहीं था कि ऐसा दिन भी आएगा. यह जानकर काफी दुख होता है कि तुम दोनों मेरे साथ नहीं हो.’

 

 

 

‘मां ने बहादुर बनाया’

उन्होंने लिखा, ‘अम्मा, आपने मुझे एक बहादुर बच्चा बनाया है, मुझे सिखाया है कि मैं हर हालात में जितना मुमकिन हो सके उतना व्यावहारिक रहूं. मैं जितने लोगों को जानती हूं उसमें आप सबसे सुंदर, खुशमिजाज और निस्वार्थ रही हैं.’ अक्का, मुझे पता है कि मैं तुम्हारी सबसे पसंदीदा इंसान थी. आप एक फाइटर हैं, आप ने मुझे आखिरी मिनट तक हार नहीं मानने के लिए प्रेरित किया है.’

‘सोचा नहीं था आखिरी मुलाकात होगी’

वेदा ने लिखा, ‘आप दोनों ऐसे शख्स थे जिन्हें मेरी हर बात, हर काम में खुशी होती थी. मुझे हमेशा एक बहुत बड़ा गर्व था कि मेरी 2 माँ हैं लेकिन लगता है कि अहंकार कभी किसी के लिए बहुत अच्छा नहीं होता.’ पिछले कुछ दिन मैंने आप दोनों के साथ सुकून के साथ बिताए थे, हम सभी खुश थे. कभी कल्पना भी नहीं की कि यह आखिरी मुलाकात होगी.’





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular