Friday, July 23, 2021
Home भारत Covid 19 in Delhi: MCD श्मशान घाटों पर लगी हैं शवों की...

Covid 19 in Delhi: MCD श्मशान घाटों पर लगी हैं शवों की कतार, 13 दिन में 527 का दाह संस्कार!


नई दिल्ली. दिल्ली में जिस तरीके से कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. उसी तरीके से मृतकों का आंकड़ा भी सुरसा की तरह लगातार बढ़ रहा है.

मौतों का आंकड़ा दिल्ली के लिए एक भयावह स्थिति पैदा कर रहा है. अब तक दिल्ली में कोरोना संक्रमण की वजह से 11,436 लोगों की मौत हो चुकी है और‌ संक्रमित मरीजों की वर्तमान संख्या 43,510 हो गई है.

चौंकाने वाली और चिंता की बात यह है कि अप्रैल माह के 13 दिनों के भीतर बड़ी संख्या में दिल्ली नगर निगम के श्मशान घाटों पर कोविड मृतकों का अंतिम संस्कार किया गया है. तीनों निगमों (Corporations) की ओर से News18Hindi को उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के मुताबिक 13 दिनों के भीतर 527 कोविड पाजिटिव /संदिग्ध मृतकों का अंतिम संस्कार/सुपुर्द ए खाक किया गया है.

SDMC के श्मशान घाटों पर 12 दिन में 200 का अंतिम संस्कारसाउथ एमसीडी के अंतर्गत 6 शवदाह गृह/कब्रिस्तान में पिछले 12 दिनों में 200 लोगों का अंतिम संस्कार व सुपुर्द ए खाक किया गया है. कोरोना से हुई मृत्यु के बाद सबसे ज्यादा अंतिम संस्कार पंजाबी बाग श्मशान घाट पर किए गए हैं.

साउथ एमसीडी से प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक पंजाबी बाग श्मशान घाट पर 1 अप्रैल से 12 अप्रैल, 2021 तक 110 मृतकों का अंतिम संस्कार किया गया. वहीं, इस दौरान हस्तसाल श्मशान घाट पर 11, सेक्टर 24 द्वारका के श्मशान घाट पर 24, लोधी रोड स्थित श्मशान घाट पर 43 और आईटीओ कब्रिस्तान पर 12 लोगों का अंतिम संस्कार/सुपुर्द ए खाक का काम किया गया है.

एक अन्य शवदाह गृह सराय काले खां पर इन 12 दिनों में कोई भी अंतिम संस्कार नहीं किया गया है. वहीं, निगम की ओर से प्राप्त आंकड़ों की बात करें तो कोराेना काल के दौरान अब तक इन 6 श्मशान घाटों/कब्रिस्तान पर कुल 5,836 शवों का अंतिम संस्कार/सुपुर्द ए खाक किया गया है.

आंकड़ों के मुताबिक अब तक पंजाबी बाग श्मशान घाट पर 2943 शव, हस्तसाल श्मशान घाट पर 442 शव, सेक्टर 24 द्वारका श्मशान घाट पर 510 शव और लोधी रोड शमशान घाट पर 1608 कोविड मृतकों का अंतिम संस्कार किया गया है.

वहीं, आईटीओ कब्रिस्तान पर 332 कोविड मृतकों को सुपुर्द ए खाक किया गया है. इसके अलावा सराय काले खां पर पूर कोरोना काल के दौरान ‍सिर्फ एक काेविड मृतक का ही अंतिम संस्कार किया गया है.

नार्थ निगम के श्मशान घाटों पर पहुंचे सबसे ज्यादा कोविड शव 
इसके अलावा नॉर्थ एमसीडी के अंतर्गत आने वाले श्मशान घाटों और मुस्लिम व क्रिश्चियन कब्रिस्तान की बात करें तो इनकी संख्या 7 है. इनमें निगमबोध घाट शवदाह गृह, पीके रोड शवदाह गृह, इंदरपुरी शवदाह गृह, बेरी वाला बाग शवदाह गृह, वजीरपुर शवदाह गृह, मंगोलपुरी शवदाह गृह, मंगोलपुरी मुस्लिम कब्रिस्तान और मंगोलपुरी क्रिश्चियन कब्रिस्तान प्रमुख रूप से शामिल हैं.

इन सभी शवदाह गृहों पर 1 से 13 अप्रैल तक कुल 228 कोविड मृतकों का अंतिम संस्कार/सुपुर्द ए खाक ‍किया जा चुका है. इन सभी 228 कोविड मृतकों में से 219 कोविड पॉजिटिव और 9 कोविड संदिग्ध मृतक शामिल हैं.

अकेले निगमबोध घाट पर 13 दिन में 133 का अंतिम संस्कार
नॉर्थ एमसीडी से प्राप्त आंकड़ों की माने तो निगम बोध घाट पर 1 से 13 अप्रैल तक कुल 133 शवों का अंतिम संस्कार किया गया है जिनमें तीन कोविड संदिग्ध मृतकों के शव भी शामिल हैं.

इसी तरह से बेरी वाला श्मशान घाट पर 26, वजीरपुर श्मशान घाट पर 6, पंचकुइयां रोड शमशान घाट पर 20 (1 संदिग्ध), मंगोलपुरी श्मशान घाट पर 38 (5 संदिग्ध) और मंगोलपुरी मुस्लिम कब्रिस्तान पर 3 और मंगोलपुरी क्रिश्चियन कब्रिस्तान पर 2 कोविड ‍मृतकों का अंतिम संस्कार/सुपुर्द ए खाक किया जा चुका है.

इसके अलावा ईस्ट दिल्ली नगर निगम के जन स्वास्थ्य विभाग की ओर से प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक अब तक शाहदरा नॉर्थ जोन और शाहदरा साउथ जोन के अंतर्गत आने वाले 5 शवदाह गृह और कब्रिस्तान ( कड़कड़डूमा, गाजीपुर, शास्त्री पार्क, मुल्ला कॉलोनी सीमापुरी श्मशान घाट/कब्रिस्तान) में 1958 कोरोना पॉजिटिव और कोरोना संदिग्ध मृतकों  का अंतिम संस्कार व सुपुर्द ए खाक किया गया है.

वर्ष 2020-21 क दौरान कोविड-19 पॉजिटिव (Covid-19 positive) 1537 और कोविड-19 संदिग्ध 421 मृतकों का इन 5 क्रीमेशन ग्राउंड पर अंतिम संस्कार किया जा चुका है. बात करें इस साल 1 अप्रैल से 13 अप्रैल तक की तो 99 कोविड मृतकों का अब तक अंतिम संस्कार किया जा चुका है. इनमें कोविड-19 पॉजिटिव 81 मृतक और कोविड-19 संदिग्ध 18 मृतक शामिल हैं. शाहदरा साउथ जोन के अंतर्गत 28 और शाहदरा नॉर्थ जोन के अंदर 71 कोविड मृतकों का अंतिम संस्कार किया जा चुका है.

12 व 13 अप्रैल को सीमापुरी श्मशान घाट पर लगी शवों की लंबी लाइन
पूर्वी दिल्ली निगम के आंकड़ों की मानें तो 13 अप्रैल को कुल 16 कोविड मृतकों के शवों का अंतिम संस्कार किया गया. यह सभी सीमापुरी स्थित शवदाह गृह पर किए गए थे. इनमें कोविड-19 पॉजिटिव 13 मृतक और कोविड संदिग्ध 3 मृतकों के शव शामिल थे.

वहीं, चिंताजनक बात यह है कि 12 अप्रैल को भी 13 कोविड शवों का अंतिम संस्कार सीमापुरी श्मशान घाट पर किया गया जिनमें कोविड-19 पॉजिटिव के 9 मृतक और कोविड-19 के 4 संदिग्ध मृतकों का अंतिम संस्कार किया गया. सीमापुरी स्थित श्मशान घाट पर बड़ी संख्या में हर रोज कोविड-19 के मृतकों का अंतिम संस्कार किया जा रहा है.

जबकि ईडीएमसी के अधीनस्थ बाकी श्मशान घाटों/कब्रिस्तान कड़कड़डूमा, गाजीपुर, शास्त्री पार्क और मुल्ला कॉलोनी आदि पर 12 और 13 अप्रैल को किसी का अंतिम संस्कार/सुपुर्द ए खाक नहीं हुआ.
तीनों निगम के श्मशान घाटों पर 13 दिन में 527 का अंतिम संस्कार हुआइस बीच देखा जाए तो तीनों एमसीडी की ओर से उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के मुताबिक 1 से 13‌ अप्रैल तक 527 कोविड पॉजिटिव/संदिग्ध मृतकों का अधीनस्थ श्मशान घाटों/कब्रिस्तानों में अंतिम संस्कार/सुपुर्द ए खाक किया गया है.

कोविड मृतकों के दाह संस्कार पर मेयर ने कहा-प्रोटोकॉल से हो रहा सब कुछ
उधर, नॉर्थ दिल्ली नगर निगम के मेयर जयप्रकाश का कहना है कि दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (Delhi Disaster Management Authority) की ओर से अभी पीपीई किट (PPE Kit) को लेकर कोई नई गाइडलाइन जारी नहीं की गई है.

लेकिन दिल्ली नगर निगम कोविड-19 डेड बाडीज मैनेजमेंट को लेकर पूर्व में जारी की गईं सभी गाइडलाइंस के तहत ही सभी प्रोटोकॉल को शुरुआती समय से ही अनुपालन कर रही है. सभी श्मशान घाटों पर संबंधित एनजीओ को निर्देशित किया हुआ है कि वह कोविड-19 (Covid-19) को लेकर जारी सभी दिशा निर्देशों और प्रोटोकॉल का सख्ती से अनुपालन करें.

वहीं, कोविड मृतकों के अंतिम संस्कार कराने वालों को पीटीई किट उपलब्ध कराएं. साथ ही कोविड मृतकों के आने-जाने के लिए अलग से रास्ते की व्यवस्था की गई है. वहीं, निगम हेल्थ विभाग ने भी इस संबंध में सभी श्मशान घाटों को सख्त निर्देश दिए हुए हैं.

मेयर जयप्रकाश का कहना है कि ऐसा इसलिए करना जरूरी है कि अगर कोई एक कोविड व्यक्ति भी भीड़ में शामिल हो गया तो कोरोना बड़े स्तर पर स्प्रेड कर जाएगा. इसकी रोकथाम के लिए श्मशान घाटों पर एहतियाती कदम सख्ती के साथ उठाए जा रहे हैं. कोविड मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए पर्ची जारी करने के लिए भी अलग काउंटर बनाए गए हैं.

कोविड-19 डेड बॉडीज मैनेजमेंट गाइडलाइंंस हैं लागू 

बतातें चले कि‍ द‍िल्‍ली सरकार के स्‍वास्‍थ्‍य व‍िभाग और डीडीएमए की ओर से जो अप्रैल, मई और जून, 2020 में कोविड-19 डेड बॉडीज मैनेजमेंट गाइडलाइंंस जारी की गईं थी वह अभी मौजूदा समय में लागू हैं. स‍िव‍िक एजेंस‍ियों, सभी अस्‍पतालों, दिल्ली पुलिस आद‍ि को इन सभी गाइडलाइंंस के तहत ही कोविड-19 डेड बॉडीज को ड‍िस्‍पोज कराने का काम कि‍या जा रहा है.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular