Friday, August 19, 2022
Homeविश्वDeadliest Female: दुनिया की सबसे बेरहम महिला! जिसने खूबसूरत दिखने के लिए...

Deadliest Female: दुनिया की सबसे बेरहम महिला! जिसने खूबसूरत दिखने के लिए 650 लोगों को मारकर पीया खून


World Deadliest Female Drank Blood: फिल्मों में आपने जरूर देखा होगा कि महिला अपने को जवान और खूबसूरत रखने के लिए लोगों को खून पीया करती है. आप सोच रहे होंगे कि ऐसा रियल में थोड़े न होता है, लेकिन लोगों की माने तो 16वीं शताब्दी में एक ऐसी महिला थी, जिसे दुनिया में अब तक की सबसे बेरहम महिला माना जाता है. उसने अपनी जवानी बनाए रखने के लिए 600 से अधिक लोगों को मार डाला था और उनका खून पी लिया था. गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड के अनुसार, उसे अब तक की सबसे घातक महिला हत्यारा माना गया है.

1560 में हुआ था जन्म

डेली स्टार की रिपोर्ट के अनुसार, इस हंगेरियन महिला का नाम काउंटेस एलिजाबेथ बाथरी था. उसका जन्म 1560 में जमींदारों के एक अमीर परिवार में हुआ था. वह आजकल के लोवाकिया स्थित कैचटिस कैसल में एक शानदार जीवन जीती थी. काउंटेस ने खुद को ‘काउंटेस ड्रैकुला’ उपनाम दिया था. उसने अनजाने किसान लड़कियों को उनके परिवारों से दूर करने के बाद, उन्हें कैद किया और फिर उनकी हत्या कर दी. बाथरी केवल हत्या पर ही नहीं रुकी. वह पीड़ितों को प्रताड़ित करने के लिए क्रूर तरीकों का इस्तेमाल करती थी. वह उन लड़कियों के नाखूनों के नीचे पिन लगाती थी, उनके स्तनों, अंगुलियों और जननांगों को काट देती थी और उन्हें ठंड में जमने के लिए छोड़ देती थी.

खून से नहाती थी बाथरी

हालांकि, उसने केवल किसान और गरीबों की लड़कियों पर ही अत्याचार नहीं किया. उसने अमीरों की बेटियों को भी मार डाला. कहा जाता है कि बाथरी ने पीड़ितों को मारने के बाद उनके खून से नहाती थी और अपनी जवानी को बनाए रखने के लिए इसे पी लेती थी. बाथरी का मानना ​​​​था कि यह उसकी जवानी को बनाए रखने में मदद करेगा.

1610 में हुई गिरफ्तार

बाथरी काफी अमीर थी. ऐसे में कोई उस तक उसकी इच्छा के बिना नहीं पहुंच पाता था. उसने 1590 से 1610 के बीच कई हत्याएं कीं. आखिरकार काउंटेस ड्रैकुला को दिसंबर 1610 में उसके चार सबसे भरोसेमंद नौकरों के साथ गिरफ्तार कर लिया गया.

54 साल की उम्र में मौत

उस पर 80 लड़कियों की हत्या का आरोप लगा. हालांकि, एक गवाह, जिसने काउंटेस की डायरी देखने का दावा किया था, उसने कहा था कि यह संख्या वास्तव में 650 थी. इसके बाद काउंटेस को आजीवन नजरबंद रखने की सजा सुनाई गई और 1614 में 54 वर्ष की आयु में उसकी मौत हो गई. हालांकि, के बाथरी के दफन अवशेष अब तक नहीं मिले हैं. उसका ठिकाना एक रहस्य बना हुआ है. लोगों का अनुमान है कि उसे महल के मैदान के नीचे कहीं दफनाया गया है. 
ये खबर आपने पढ़ी देश की नंबर 1 हिंदी वेबसाइट Zeenews.com/Hindi पर
LIVE TV





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular