Tuesday, May 18, 2021
Home लाइफस्टाइल Hair Dye Tips: बालों को कलर करने से पहले जान लें हेयर...

Hair Dye Tips: बालों को कलर करने से पहले जान लें हेयर डाई के फायदे और नुकसान


बाजार में उपलब्ध बालों के डाई /रंग का उपयोग करने के फायदे और नुकसान तो सभी जानते ही हैं लेकिन आपकी पर्सनेलिटी निखारने में बालों की अहम भूमिका होती है, ऐसे में जरूरी हो जाता है कि बालों की देखभाल अच्छे से की जाए. एक समय था जब सिर्फ उम्र के कारण सफ़ेद हुए बालों को हेयर डाई से काला किया जाता था. लेकिन अब हर उम्र में विभिन्न प्रकार के रंग से बालों को रंगने का फैशन बन गया है.

कहा जाता है कि फैशन और सौंदर्य एक दूसरे के पर्याय हैं और जिस प्रकार कपड़ों का फैशन दिन-प्रतिदिन बदल रहा है ठीक उसी प्रकार मेकअप, स्टाइल और हेयर कट के साथ हेयर कलर और डाई का भी ट्रेड बदल रहा है. बाजार में कई प्रकार के हेयर कलर तथा हेयर डाई उपलब्ध हैं. कुछ लोग प्राकृतिक हेयर कलर लगाना पसंद करते है जिसमे मेहंदी, कत्था, कॉफी आदि का उपयोग किया जाता है.

बाजार में उपलब्ध बालों के डाई/रंग के साथ अमोनिया, हाइड्रोजन पेरोक्साइड, पैराबेन्स, सल्फेट इत्यादि जैसे घातक केमिकल का प्रयोग किया जाता हैं जिसके कारण हमारे शरीर को नुकसान पहुंचने की आशंका बनी रहती है.

बाज़ार में उपलब्ध हेयर कलर और डाई के फायदे• क्रीम ग्लॉस हेयर कलर बालों को चमकदार बनाने के साथ-साथ ग्रे हेयर (सफेद बालों) को छुपाता है और आपको एक नया लूक देता हैं. यह बालों को पोषण देने के साथ-साथ बालों को भी स्वस्थ रखता है. इसमें मौजूद कंडीशनर बालों को मॉइस्चराइज, मुलायम, घना और चमकदार बनाने में मदद करता है.
• हेयर कलर बालों को 100% ग्रे कवरेज और खूबसूरत रिच कलर देता है. यह एक अमोनिया फ्री हेयर कलर है. इसमें तीन तेल – बादाम, जैतून और एवोकाडो के गुण मौजूद हैं, जो बालों को पोषण और चमकदार बनाने के साथ-साथ लंबे समय तक चलने वाला रंग प्रदान करते हैं.
•बाज़ार में वेजिटेबल हेयर डाई भी उपलब्ध है. वेजिटेबल हेयर डाई को पेड़ के खनिज, फल, फुल, पत्तों और जड़ों से बनाया जाता है. इसमें कोई केमिकल नहीं होने के कारण यह बालों को कोई नुकसान नहीं पहुंचाता है बल्कि बालों में चमक ही लाता है. यह बालों को मजबूत बनाता है. वेजिटेबल हेयर डाई के कोई साइड इफेक्ट नहीं होते है.

बाज़ार में उपलब्ध हेयर कलर और डाई के नुकसान
•अस्थमा से पीड़ित लोगों को हेयर कलर के इस्तेमाल से बचना चाहिए क्योंकि इसमें मौजूद परसल्फेट नाम का एक केमिकल अस्थमा की समस्या को बढ़ा सकता है. इसके अलावा भी इसमें ऐसे कई केमिकल्स होते हैं, जिन्हें सूंघने से सांस संबंधी परेशानियां बढ़ सकती हैं.

•बालों में कलर कराने वाले लोगों पर किये गए एक शोध से पता चलता है कि इनमें कैंसर के लक्षण पाए गए है. इससे यह साफ होता है कि बालों में कलर लगाने से कैंसर भी हो सकता है. हेयर डाई को कई केमिकल्स मिलाकर तैयार किया जाता है, इन केमिकल्स के संपर्क में आने से कैंसर का खतरा बढ़ता है.
•हेयर कलर और डाई में अमोनिया होता है, जो हमारे बालों के लिए बहुत नुकसानदायक होता है. इस कारण से बालों का झड़ना और बालों का टूटना शुरू हो जाता है और बालों में होने वाली कमजोरी की वजह बनता है.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular