Sunday, May 29, 2022
HomeबिजनेसIndian Railway: रेलवे यात्रियों के लिए बुरी खबर, 50 रुपये तक बढ़ने...

Indian Railway: रेलवे यात्रियों के लिए बुरी खबर, 50 रुपये तक बढ़ने वाला है इन ट्रेनों का किराया!, यहां जाने डिटेल्स


नई दिल्ली: डीजल इंजनों से चलने वाली ट्रेनों से लंबी दूरी की यात्रा करने वाले यात्रियों से अब अधिक किराया वसूला जा सकता है. ये अतिरिक्त किराया 15 अप्रैल से टिकट बुकिंग के समय रेल यात्रा में जुड़ जाएगा. दरअसल, रेलवे बोर्ड डीजल इंजनों से चलने वाली ट्रेनों में यात्रा करने वाले यात्रियों पर 10 रुपये से 50 रुपये के बीच हाइड्रोकार्बन सरचार्ज (HCS) या डीजल टैक्स लगाने की योजना बना रहा है. यह सरचार्ज उन ट्रेनों पर लागू होगा जो डीजल इंजनों का इस्तेमाल कर आधी से ज्यादा दूरी तक चलेंगी. यह ईंधन आयात के प्रभाव को कम करने के लिए किया जा रहा है, जो तेल की बढ़ती लागत से गंभीर रूप से प्रभावित हुआ है.

50 रुपये तक बढ़ेगा किराया

AC क्लास के लिए 50 रुपये, स्लीपर क्लास के लिए 25 रुपये और जनरल क्लास के लिए न्यूनतम 10 रुपये फीस तीन कैटेगरी के तहत ली जाएगी. उपनगरीय रेल यात्रा टिकटों पर ऐसा कोई अधिभार नहीं लगाया जाएगा. रेलवे बोर्ड ने सभी जोनों को उन ट्रेनों की पहचान करने का निर्देश दिया है जो निर्धारित दूरी का 50 प्रतिशत डीजल से चलती हैं. इस सूची को हर तीन महीने में संशोधित किया जाना है. हालांकि 15 अप्रैल से पहले बुक किए गए टिकटों पर सरचार्ज लगाने के बारे में अभी कोई स्पष्टता नहीं है.

ये भी पढ़ें- HDFC और HDFC Bank का होगा विलय! जानिए किसकी कितनी होगी हिस्‍सेदारी, ये है पूरा प्लान

डीजल की बढ़ती कीमतों के बीच लिया फैसला

रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे संघर्ष के साथ-साथ सऊदी अरब और यमन के बीच झड़प के कारण वैश्विक तेल की कीमतें वर्तमान में रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच चुकी हैं. भारत द्वारा रूस से रियायती कीमतों पर तेल आयात करने के बावजूद, आपूर्ति की कमी है. देश में ईंधन की कीमतों में लगातार 12 दिनों तक बढ़ोतरी के साथ उपभोक्ता ईंधन की कीमतें रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई हैं.

रेलवे के विद्युत अभियान के लिए भी होगा इस्तेमाल

HCS सरचार्ज का इस्तेमाल भारतीय रेलवे के चालू विद्युत अभियान के लिए भी किया जाएगा. रेलवे राष्ट्रीय ट्रांसपोर्टर ‘मिशन 100 प्रतिशत विद्युतीकरण – नेट जीरो कार्बन उत्सर्जन’ योजना के तहत जनता को पर्यावरण के अनुकूल, हरित और स्वच्छ परिवहन प्रदान करने के लिए अपने पूरे ब्रॉड गेज नेटवर्क को विद्युतीकृत करने के लिए एक मिशन मोड पर है.

ये भी पढ़ें- पेट्रोल-डीजल के बाद CNG ने भी दिया झटका! बढ़े दाम, जानें आपके शहर में कितना हुआ रेट

उपयोगकर्ता शुल्क में इस बढ़ोत्तरी का मतलब होगा कि ट्रेन का अंतिम किराया बढ़ जाएगा. रेलवे बोर्ड सरचार्ज जोड़कर, रियायतों में कटौती कर या मूल किराए को छुए बिना आराम व सुविधाओं को कम कर कुल किराया बढ़ाने की कोशिश कर रहा है.

(इनपुट- आईएएनएस)

LIVE TV





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular