Friday, January 21, 2022
HomeबिजनेसIndian Railways: इन ट्रेनों को बंद करने जा रही रेलवे, कहीं आपके...

Indian Railways: इन ट्रेनों को बंद करने जा रही रेलवे, कहीं आपके इलाके की गाड़ी तो नहीं? यहां चेक करें लिस्ट


नई दिल्ली: रेल यात्रियों (Indian Railways Latest News) के लिए काम की खबर है. इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (IRCTC) ने बड़ा फैसला लिया है. आईआरसीटीसी ने अपनी तरफ से चलाई जाने वाली कम लाभ देने वाले ट्रेनों को बंद करने जा रहा है. आइआरसीटीसी ने रेल मंत्रालय को कहा है कि वह काशी महाकाल एक्सप्रेस का संचालन नहीं कर सकता है. यह उन तीन निजी यात्री ट्रेनों में से एक है जो उसने महामारी से पहले चलाना शुरू किया था.

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में विभिन्न पर्यटन स्थलों, विशेष रूप से धार्मिक स्थलों को जोड़ने के लिए इस ट्रेन को शुरू किया गया था. आइआरसीटीसी देश में पहली निजी तौर पर चलने वाली यात्री ट्रेन तेजस एक्सप्रेस के लिए कुछ कठिन कॉलों सहित विभिन्न विकल्पों पर भी विचार कर रही है. 

आईआरसीटीसी को लेना पड़ा फैसला 

आइआरसीटीसी के अनुसार, काशी-महाकाल एक्सप्रेस के रूट पर यात्रियों की कमी थी, लिहाजा हमने लगभग तीन महीने पहले भारतीय रेलवे को सूचित किया था कि मौजूदा परिस्थितियों में हमारे लिए उस ट्रेन को संचालित करना मुश्किल होगा. भारतीय रेलवे की तीसरी निजी तौर पर संचालित ट्रेन काशी-महाकाल एक्सप्रेस ने फरवरी 2020 में अपना व्यावसायिक संचालन शुरू किया. इस ट्रेन में यात्रा करने वाले यात्री तीन तीर्थ स्थानों ओंकारेश्वर (इंदौर के पास), महाकालेश्वर (उज्जैन) और काशी विश्वनाथ (वाराणसी) जा सकते हैं. हालांकि, आइआरसीटीसी को महामारी से पहले धार्मिक पर्यटन की मांग के आधार पर बुकिंग शुरू होने की उम्मीद की थी.

ये भी पढ़ें- रेल टिकट बुकिंग के लिए IRCTC ने बनाए नए नियम, जान लें वरना नहीं मिलेगी सीट

तेजस एक्सप्रेस के संचालन पर कड़ा फैसला

आइआरसीटीसी के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक रजनी हसीजा ने पिछले हफ्ते एक कॉल में कहा था कि प्रबंधन तेजस एक्सप्रेस के संचालन पर कड़ा फैसला ले सकता है. हालांकि हसीजा ने इसकी वजह का खुलासा नहीं किया था. इस ट्रेन के फेरे कम करने सहित लागत कम करने के लिए ट्रेन संचालन का प्रबंधन करने के लिए अन्य भागीदारों की को तलाशा जा सकता है. अधिकारी ने बताया कि तेजस एक्सप्रेस का संचालन आइआरसीटीसी ने इस साल अगस्त में फिर से शुरू किया था. 

यात्रियों की संख्या में हुई काफी कमी 

आइआरसीटीसी के अनुसार, इन ट्रेनों में यात्रियों की संख्या में कमी आई है. रेलवे नेटवर्क पर अपनी ट्रेनों को पार्क करने और उन्हें बनाए रखने के लिए सार्वजनिक क्षेत्र की इकाई भारतीय रेलवे को भुगतान की जाने वाली लागत की छूट के लिए रेल मंत्रालय से संपर्क किया है. आइआरसीटीसी ने महामारी के दौरान यात्री यातायात में भारी गिरावट का हवाला देते हुए इन ट्रेनों के लिए लीज शुल्क माफ करने की भी मांग की है. गौरतलब है कि पिछले कुछ महामारी प्रभावित तिमाहियों में भारतीय रेलवे ने पीएसयू के लिए निश्चित शुल्क माफ कर दिया था. 

ये भी पढ़ें- आधार वेरिफिकेशन के लिए सरकार ने जारी किया नया नियम, जान लीजिए वरना होगी दिक्कत

घरेलू पर्यटन में मांग बढ़ने की उम्मीद

ट्रेनों के बदलते हालात के बाद, आइआरसीटीसी अब घरेलू पर्यटन में तेजी बढ़ने की उम्मीद कर रहा है. चालू वित्त वर्ष की जून-सितंबर तिमाही में आईआरसीटीसी ने धार्मिक और पर्यटन स्थलों जैसे बद्रीनाथ, द्वारका, रामेश्वरम, पूर्वोत्तर के स्थानों, लद्दाख, लेह और केरल के साथ-साथ घरेलू सर्किट में अन्य स्थानों को कवर करने वाले पर्यटक पैकेज की पेशकश शुरू की. 

बिजनेस से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular