Saturday, May 28, 2022
HomeबिजनेसKinder Joy के प्रोडक्ट खाने से दुनिया में फैल रही बीमारी, शिकायत...

Kinder Joy के प्रोडक्ट खाने से दुनिया में फैल रही बीमारी, शिकायत के बाद कंपनी ने लिया ये बड़ा फैसला


लंदन: दुनिया भर के बच्चों में Kinder joy के प्रोडक्ट बहुत लोकप्रिय हैं. इन उत्पादों को बनाने वाली कंपनी Ferrero ने अपने एक प्रोडक्ट को स्वास्थ्य के लिए सुरक्षित न पाए जाने पर बाजार से वापस लेने का निर्णय लिया है. 

दरअसल UK की खाद्य सुरक्षा एजेंसी FSA ने उपभोक्ताओं को किंडर ब्रांड के कुछ उत्पादों का इस्तेमाल करने से बचने की सलाह दी है. FSA ने किंडर के खाद्य उत्पादों और साल्मोनेला संक्रमण फैलने के बीच संबध होने की आशंका जताई है.   

UK की खाद्य सुरक्षा एजेंसी FSA ने किया आगाह 

UKHSA और यूरोप की कुछ अन्य स्वास्थ्य एजेंसियों की जांच में पाया गया है कि कंपनी के प्रोडक्ट और UK में फैलने वाले साल्मोनेला संक्रमण के बीच कोई संबध है. इस संबध में Ferrero कंपनी ने सावधानी के तौर पर अपने प्रोडक्ट को वापस लिया और जांच शुरू कर दी. वापस लिए जाने वाला प्रोडक्ट एक ही फैक्टरी में बना है और किंडर के बाकी प्रोडक्ट फिलहाल इससे प्रभावित नहीं पाए गए हैं.  

क्या कहा है Ferrero कंपनी ने? 

किंडर जॉय प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनी Ferrero ने अपने उत्पाद को वापस लेने की घोषणा की है. कंपनी ने कहा है कि वो अपने उत्पाद Kinder Surprise के कुछ बैच को साल्मोनेला संक्रमित होने की आशंका के चलते वापस बुला रही है. कंपनी के अनुसार Kinder Surprise के जिन 20 ग्राम के पैकेट पर Best Before की तारीख 11 जुलाई 2022 और 7 अक्तूबर 2022 के बीच की है, सिर्फ उसे ही वापस लिया जा रहा है.   

प्रोडक्ट खरीदा है तो क्या करें? 

Kinder Surprise के संबध में कंपनी ने बताया है कि अगर आपने उत्पाद खरीदा है तो आप इसे न खाएं. इस बारे में Ferrero Consumer Careline पर सम्पर्क करके आप अपने पैसे वापस ले सकते हैं.  

पेरेंट कंपनी Ferrero ने बताया कि जनता को जानकारी देने के लिए रिटेल स्टोर में उत्पाद के बारे में नोटिस लगाए जाएंगे. इन नोटिस में बताया जाएगा कि उत्पादों को क्यों वापस लिया जा रहा है. यह भी बताया जाएगा कि अगर आप इन उत्पादों को खरीद चुके हैं तो उन्हें आगे क्या क्या करना है.   

कैसे करें साल्मोनेला से बचाव? 

डाक्टर डॉ. अशोक झिंगन ने बताया कि साल्मोनेला संक्रमण कच्चा मांस, बिना पाश्चुराईज किए गए दूध, अंडा, बीफ या उससे बनी चीजों से फैलता है. इसके अलावा साल्मोनेला से दूषित पानी या भोजन लेने पर भी इस बैक्टीरिया से संक्रमित हो सकते हैं. 

छोटे बच्चों, बुजुर्गों और कमजोर प्रतिरक्षा वाले व्याक्तियों के लिए ये बैक्टीरिया ज्यादा खतरनाक साबित हो सकता है. इसका संक्रमण आमतौर पर 4 से 7 दिन तक रहता है. लक्षणों की बात करें तो इसमें व्यक्ति को पेट में दर्द, मितली, उल्टी, दस्त, बुखार, ठंड लगना, सिरदर्द, मल में खून आना शामिल हैं.

LIVE TV





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular