Wednesday, October 20, 2021
Home बिजनेस Motivational Story: बचपन में पेड़ के नीचे बैठकर की पढ़ाई, अब रोजाना...

Motivational Story: बचपन में पेड़ के नीचे बैठकर की पढ़ाई, अब रोजाना 153 करोड़ रुपये कमाता है ये शख्स


नई दिल्ली: कहावत है कि अगर किसी लक्ष्य को पाने के लिए बुलंद इरादों के साथ जुट जाओ तो किसी भी मंजिल को पाना आपके लिए मुश्किल नहीं है. दुनिया के दसवें सबसे अमीर भारतीय उद्योगपति जय चौधरी (Jay Chaudhry) पर यह कहावत सटीक बैठती है. 

पेड़ के नीचे बैठकर की पढ़ाई

जय चौधरी का जन्म हिमाचल प्रदेश के एक छोटे से गांव में हुआ था. उनके माता-पिता पनोह गांव के छोटे किसान थे, जहां बिजली और पीने के पानी जैसी बुनियादी सुविधाओं का भी अभाव था. जय चौधरी (Jay Chaudhry) ने घर के अंदर पढ़ने के बजाय बाहर एक पेड़ के नीचे पढ़ाई करना बेहतर समझा.

रोजाना 153 करोड़ रुपये की कमाई

अपनी मेहनत और लगन के चलते उन्होंने अभावों को पीछे छोड़ दिया. स्कूली और कॉलेज एजुकेशन पूरा करने के बाद उन्होंने अमेरिका में एक के बाद एक कई कंपनियां लॉन्च की. उनका कारोबार चल निकला और वे सीढ़ी दर सीढ़ी सफलता की बुलंदी पर चढ़ते चले गए. IIFL Wealth Hurun India Rich list 2021 ने उन्हें दुनिया का 10वां सबसे अमीर भारतीय करार दिया है. रिपोर्ट के मुताबिक पिछले साल वे कैलिफोर्निया में आईटी सुरक्षा फर्म Zscale के जरिए रोजाना 153 करोड़ रुपये की औसत कमाई कर रहे थे. 

कई कंपनियों की सफल शुरुआत की

Zscaler की स्थापना से पहले जय चौधरी (Jay Chaudhry) ने कई कंपनियों की शुरुआत की. इनमें AirDefense को Motorola ने अधिग्रहित कर लिया. CipherTrust कंपनी का सिक्योर कंप्यूटिंग के साथ विलय हो गया. CoreHarbor कंपनी का USi/AT&T ने अधिग्रहण कर लिया. SecureIT को VeriSign ने अधिग्रहण किया. वे प्लानिंग के साथ नई कंपनी लॉन्च करते और उसे मोटे मुनाफे पर बेचकर दूसरी कंपनी खड़ी करने में जुट जाते. 

बिजनेसमैन बनने से पहले जय चौधरी ने IBM, Unisys और IQ software में करीब 25 सालों तक काम किया. वर्ष 1996 में जय चौधरी और उनकी पत्नी ज्योति ने मोटे पैकेज वाली जॉब छोड़कर खुद का स्टार्ट अप शुरू करने का फैसला किया. इसके साथ ही उनकी सफल उद्यमी बनने की शुरूआत हो गई. 

साइबर सिक्योरिटी कंपनी ने बना दिया बादशाह

वर्ष 2007 में उन्होंने Zscaler नाम की साइबर सिक्योरिटी कंपनी शुरू की. इस कंपनी में उनकी 42 पर्सेंट हिस्सेदारी है. शुरुआत में उनका काम हल्का रहा. बाद में अमेरिका की बड़ी कंपनियों पर साइबर अटैक और हैकर्स के हमले होने के बाद कंपनियों को सुरक्षा की जरूरत महसूस हुई. इसके बाद उन्होंने Zscaler की मदद लेनी शुरू कर दी. इसके साथ ही जय चौधरी के आगे बढ़ने का सिलसिला शुरू हो गया. अब जय चौधरी की कुल संपत्ति बढ़कर 1 लाख 60 हजार करोड़ रुपये हो चुकी है. 

दुनिया में 10वें सबसे अमीर भारतीय

Zscaler की इस असाधारण सफलता ने उन्हें धीरे-धीरे करके दुनिया का 10वां सबसे अमीर भारतीय बना दिया. अपनी कामयाबी पर एक बार जय चौधरी (Jay Chaudhry) ने कहा था, ‘जब मैंने Zscaler की शुरुआत की, उस समय बाजार इसके लिए तैयार नहीं था. लेकिन मैं देख सकता था कि बाजार आ रहा था. इसे जल्दी शुरू करने की वजह से मुझे इस बिजनेस को और फैलाने का मौका मिल गया. जैसे-जैसे साइबर सिक्योरिटी की मार्केट बढ़ती रही, हम अपने प्रतिद्वंदियों से बहुत आगे निकल गए.’ 

ये भी पढ़ें- Credit Card Statement: क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट देखना क्यों है जरूरी? नहीं देखते तो करते हैं बड़ी गलती

IIT-BHU के हैं पूर्व अल्युमनाई 

जय चौधरी IIT-BHU (वाराणसी) के पूर्व छात्र हैं. वहां पर उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग में बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी की पढ़ाई की. इसके बाद उन्होंने अमेरिका के सिनसिनाटी विश्वविद्यालय से मार्केटिंग में एमबीए, कंप्यूटर इंजीनियरिंग में एमएस और औद्योगिक इंजीनियरिंग में एमएस किया. इसके बाद उन्होंने प्रतिष्ठित हार्वर्ड बिजनेस स्कूल से अपने कार्यकारी प्रबंधन कार्यक्रम को आगे बढ़ाया. जय चौधरी अपने परिवार के साथ अब अमेरिका के Nevada इलाके में रहते हैं. 

LIVE TV





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular