Saturday, May 28, 2022
HomeभारतPrayagraj Murder Case: पांच लोगों की मौत के मामले में पुलिस के...

Prayagraj Murder Case: पांच लोगों की मौत के मामले में पुलिस के हाथ लगा सुसाइड नोट, जानें पूरा मामला


प्रयागराज. यूपी के प्रयागराज के गंगापार नवाबगंज थाना क्षेत्र के खागलपुर गांव में शुक्रवार की रात एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत हो गई. मृतकों में पति-पत्नी और उनकी तीन बेटियां शामिल हैं. वहीं, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) अजय कुमार ने बताया कि नवाबगंज थाना क्षेत्र के खागलपुर गांव में एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत हो गई. मृतकों में राहुल तिवारी (37), उनकी पत्नी प्रीति तिवारी (35) और तीन बेटियां- माही (15), पीहू (13) और कूहु (11) शामिल हैं. वहीं, मृतक राहुल तिवारी ने अपने सुसाइड नोट में 11 लोगों को जिक्र किया है. यह सभी लोग उसकी ससुराल पक्ष हैं और पूरे परिवार को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है.

एसएसपी ने बताया कि शनिवार सुबह साढ़े सात बजे पुलिस को सूचना मिली कि खागलपुर गांव में एक ही परिवार के पांच लोग मृत पाए गए हैं. इस सूचना पर वह तत्काल पुलिस की टीम, श्वान दस्ता, फोरेंसिक टीम के साथ घटनास्थल पहुंचे. उन्होंने बताया कि पूरे घटनास्थल का निरीक्षण किया गया और वहां घर के मुखिया राहुल तिवारी का शव साड़ी के फंदे से लटका हुआ मिला तथा उनके शरीर पर चोट के कोई निशान नहीं मिले. उन्होंने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि राहुल ने आत्महत्या की है. इसके साथ एसएसपी ने बताया कि राहुल के अलावा परिवार के अन्य चार सदस्यों- राहुल की पत्नी और तीन बेटियों के गले पर धारदार हथियार से वार के निशान मिले हैं. इससे उनकी हत्या किए जाने का संकेत मिलता है. एसएसपी ने कहा कि पुलिस हत्या और आत्महत्या दोनों पहलुओं से घटना की जांच की करेगी.

एसएसपी ने बताया कि मौत के सही कारणों का पता लगाने के लिए शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है. जांच के लिए सात टीम का गठन किया गया है. राहुल की बहन और बहनोई घटनास्थल पर पहुंचे हैं. साथ ही बताया कि राहुल का ससुराल पक्ष से काफी दिनों से विवाद चल रहा था.

सुसाइड नोट में ससुराल पक्ष के 11 लोगों का जिक्र
बहरहाल, नवाबगंज इलाके में एक ही परिवार के 5 लोगों मौत के मामले में सुसाइड नोट सामने आया है. मृतक राहुल तिवारी ने अपने सुसाइड नोट में ससुराल पक्ष के 11 लोगों को जिक्र किया है. इसके साथ उसने सभी पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है. जिन 11 लोगों का नाम लिखा हुआ है उन में दो महिलाएं भी हैं. मृतक ने अपने दोनों सगे सालों और उनकी पत्नियों के नाम का जिक्र किया है. इसके साथ ही ससुराल के सात अन्य लोगों का नाम भी लिखा गया है. मृतक राहुल तिवारी ने इन सभी पर डराने धमकाने व मानसिक रूप से परेशान करने का भी आरोप लगाया है.
सुसाइड नोट में ससुराल पक्ष के लोगों पर चार पहिया वाहन से आकर धमकाने का भी गंभीर आरोप लगाया गया है. इसके साथ पुलिस अपनी विवेचना में इन लोगों का नाम शामिल कर सकती है. वहीं, 4 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. जबकि बचे 7 लोगों का नाम विवेचना में जोड़ा जा सकता है. जानकारी के मुताबिक, मृतक राहुल तिवारी ने कई लोगों से कर्ज भी ले रखा था और इनका संबंध कौशांबी, प्रयागराज और फतेहपुर से है. कर्ज चुकता ना कर पाने पर कर्जदार भी उस पर दबाव बना रहे थे. वहीं, एडीजी प्रेम प्रकाश ने 11 लोगों के नाम सुसाइड नोट में लिखने और कर्ज लेने के बारे में जानकारी दी है. साथ ही उन्‍होंने कहा कि इस मामले में तमाम पहलुओं पर जांच की जाएगी. वहीं, नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए टीमें रवाना कर दी गई हैं. इसके बाद सभी से पूछताछ की जाएगी.

ऐसे मामले का पता चला
जानकारी के मुताबिक, सुमन सरोज नाम की 8 साल की पड़ोस की बच्ची सबसे पहले मृतक परिवार के घर गई थी. दरअसल वह पीहू की दोस्त थी. सुमन और पीहू रोजाना साथ साथ खेलती थीं, लेकिन जब वह सुबह नहीं आयी तो वह उसके घर पहुंच गयी. सुमन सरोज के मुताबिक, घर का दरवाजा खुला हुआ था. इस दौरान चैनल गेट पर ना तो ताला लगा था और ना ही चैनल बंद था. घर में घुसते ही उसने सबसे पहले आंगन में राहुल तिवारी का फंदे से लटका हुआ शव देखा था. इसके बाद वह वहां से डरकर भाग निकली और पूरा मामला अपने पिता समेत अन्‍य लोगों को बताया. इसके बाद पुलिस को सूचना दी गयी.

आपके शहर से (इलाहाबाद)

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश

Tags: Allahabad news, Up crime news, UP police



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular