Friday, September 17, 2021
Home खेल 'World Cup Final की तरह खेलेंगे ICC WTC Final', Team India के...

‘World Cup Final की तरह खेलेंगे ICC WTC Final’, Team India के गेंदबाजों ने बनाया तगड़ा प्लान


साउथैम्पटन: भारतीय टीम के गेंदबाजों का मानना है कि आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचना 2 साल की कड़ी मेहनत और कभी हार नहीं मानने वाले जज्बे का नतीजा है और टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ18 से 22 जून तक खेले जाने वाले मुकाबले के लिए अपना पूरा दमखम लगा देगी.

110 फीसदी देंगे भारतीय गेंदबाज

ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने ‘बीसीसीआई डॉट टीवी’ से कहा कि न्यूजीलैंड की टीम इस मुकाबले से पहले इंग्लैंड के खिलाफ 2 टेस्ट मैच खेलने से फायदे में रहेगी लेकिन टीम इंडिया (Team India) को इस चुनौती से निपटने के लिए हालात से सामांजस्य बैठाना होगा. तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी और इशांत शर्मा ने इसकी तुलना वनडे वर्ल्ड कप से करते हुए कहा कि टीम को 110 फीसदी देना होगा.

‘NZ को होगा फायदा’

रविचंद्रन अश्विन ने न्यूजीलैंड के इंग्लैंड दौरे पर कहा, ‘मुझे उम्मीद है कि एक सुनियोजित और शानदार तैयारी के साथ न्यूजीलैंड टीम हमारे पास आएगी. उन्हें 2 टेस्ट खेलने के बाद निश्चित रूप से फायदा हुआ है इसलिए हमें उसके अनुकूल होना होगा.’

‘शानदार कोशिशों का नतीजा’

टीम में 100 टेस्ट मैचों का अनुभव रखने वाले इकलौते खिलाड़ी इशांत शर्मा ने डब्ल्यूटीसी के लिए पिछले 2 साल की सफर को भावनात्मक बताते हुए कहा कि कोरोना वायरस के कारण बदले हालात में टीम का यहां पहुंचना शानदार कोशिशों का नतीजा है.

‘वर्ल्ड कप फाइनल के तरह है ये मैच’

इशांत ने कहा, ‘यह काफी भावनात्मक यात्रा रही है, यह ऐसा आईसीसी टूर्नामेंट है जो 50 ओवर के वर्ल्ड कप फाइनल की तरह बड़ा है. विराट ने पहले भी कहा है कि यह एक महीने नहीं बल्कि लगातार 2 साल की मेहनत का नतीजा है. कोविड-19 के कारण नियमों में बदलाव के बाद हम दबाव में थे हमें काफी कड़ी मेहनत करनी थी. इंग्लैंड के खिलाफ 3-1 (या 2-0) से जीतना था.

 

‘AUS में शानदार प्रदर्शन’

मोहम्मद शमी ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया दौरे में एडिलेड टेस्ट के बाद टीम ने अनुभवी गेंदबाजों की गैरमौजूदगी में जैसा प्रदर्शन किया वह काबिल ए तारीफ हैं. उन्होंने कहा, ‘अब यह अपना 110 फीसदी देने के बारे में है. यह हमारे 2 साल की कड़ी मेहनत के बाद आखिरी बार कोशिश करने की तरह है. यह जरूरी है कि हम इसमें दोहरा प्रयास करें.’

‘AUS में मिला कॉन्फिडेंस’

मोहम्मद शमी ने आगे कहा, ‘हमारे लिए सबसे अच्छा पल ऑस्ट्रेलिया में आया, सीनियर गेंदबाजों की गैरमौजूदगी में युवाओं ने शानदार प्रदर्शन किया. यह भी सीखने की प्रक्रिया है और इससे आत्मविश्वास मिला. उन्होंने एक मानक स्थापित किया.’

किसी भी हलात से वापसी का दम

इशांत शर्मा भी शमी से सहमत दिखे. उन्होंने कहा, ‘उस दौरे के बाद टीम में यह विश्वास आया कि हम किसी भी हालात से वापसी कर सकते हैं यह भारतीय क्रिकेट को अगले स्तर पर ले जाने वाला पल था. मैं उस सीरीज का हिस्सा नहीं था लेकिन उससे काफी आत्मविश्वास मिला.’

‘न्यूट्रल वेन्यू पर खेलने को बेकरार’

अश्विन ने कहा कि डब्ल्यूटीसी की कॉनसेप्ट से टेस्ट क्रिकेट की अहमियत बढ़ी है और वो न्यूट्रल वेन्यू पर ज्यादा टेस्ट खेलना चाहेंगे. उन्होंने कहा, ‘इतने सालों में हमने कभी तटस्थ स्थल पर टेस्ट नहीं खेला है. दोनों टीमों के लिए हालात तकरीबन एक जैसे होंगे.

‘होम एडवांटेज नहीं मिलेगा’

मोहम्मद शमी ने अश्विन के विचारों का समर्थन करते हुए कहा कि इंग्लैंड में मौसम का रोल काफी अहम होगा. उन्होंने कहा, ‘दोनों टीमें विदेशी सरजमीं पर खेलेगी, यह अच्छा मुकाबला होगा और किसी भी टीम को घरेलू माहौल का फायदा नहीं मिलेगा.’

‘मौसम काफी अहम’

रविचंद्रन अश्विन ने कहा, ‘जब आप इंग्लैंड की हालात की बात करते है तो यह कहा जाता है कि ‘परिस्थितियां (मौसम) ही सबसे अहम’ है. कई बार मजाक में कहा जाता है कि इंग्लैंड में आपको मैदान ढकने की जगह बादल को ढकने के बारे में सोचना चाहिए.’

इशांत ने बताया प्लान

इशांत ने कहा कि यहां अलग तरह से गेंदबाजी करनी होगी. उन्होंने कहा, ‘भारत में गेंद जल्दी पुरानी होती है और रिवर्स स्विंग मिलता है लेकिन यहां गेंद को स्विंग करने के लिए आगे टप्पा करना होगा. किसी को गेंद की चमक को बरकरार रखने की जिम्मेदारी लेनी होगी. अगर यह सही तरीके से हुआ तो तेज गेंदबाजों को मदद मिलेगी.’





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular